Home / Movies Review / फ़िल्म समीक्षा वन डे जस्टिस डेलिवर्ड

फ़िल्म समीक्षा वन डे जस्टिस डेलिवर्ड

 

शहज़ाद अहमद / नई दिल्ली 

यह कहानी एक रिटार्यड जज त्यागी (अनुपम खेर) अपने रिटायरमेंट के बाद हर उस आदमी को सजा देना चाहता है जो सबूतों की कमी के कारण आजाद घूम रहे हैं। जज को लगता है कि जब उसने फैसले सुनाए थे तब वह कानून के दायरे में बंधा हुआ था और उसने कुछ मामलों में गलत फैसले दिए थे। इन्हीं में से एक खास केस उसे परेशान करता है और वह इसके बाद कानून अपने हाथ में ले लेता है और सभी दोषियों से जुर्म कुबूल करवाने के मिशन पर निकल पड़ता है। दूसरी तरफ कुछ हाई-प्रोफाइल लोगों के गायब होने की जांच क्राइम ब्रांच की स्पेशल ऑफिसर लक्ष्मी राठी (ईशा गुप्ता) के पास पहुंचती है। अपने-अपने मिशन में त्यागी और लक्ष्मी राठी कैसे सफल होते हैं, यही फिल्म की कहानी है।
फिल्म की कहानी काफी दिलचस्प है लेकिन अशोक नंदा का डायरेक्शन काफी ढीला और बिखरा हुआ लगता है। खासतौर पर फिल्म का पहला हाफ आपको निराश करता है लेकिन दूसरे हाफ में फिल्म कुछ गति पकड़ती है और इसमें आपका इंटरेस्ट जागेगा। रिटायर्ड जज के रोल में अनुपम खेर और पुलिस इंस्पेक्टर शर्मा के रोल में कुमुद मिश्रा हमेशा की तरह बेहतरीन नजर आते हैं। ईशा इससे पहले 2012 की फिल्म ‘चक्रव्यूह’ में ऐसा ही पुलिस अधिकारी का रोल निभाया था और वह भी अपने किरदार में अच्छी लग रही हैं। बस फिल्म में उनका हरियाणवी बोलने का तरीका आपको जरूर अखरेगा। फिल्म का म्यूजिक याद करने लायक नहीं है और केवल ऊषा उत्थुप के गाए टाइटल सॉन्ग के अलावा आपको एक भी गाना स्टोरी के हिसाब से ठीक नहीं लगेगा।

निर्देशक अशोक नंदा

कलाकार अनुपम खेर,कुमुद मिश्रा,ईशा गुप्ता

स्टार 3 / 5

About Ravi Tondak

I am a fun freak. Love watching movies and specially attached to the movie world. Cinema is close to my heart. This site (www.getmovieinfo.com) is an effort to make Cinema reach far and wide to its audience. I would love to connect with like-minded people and improve your experience at this site.

Check Also

Jhootha Kahin Kaa Receives Love & Laughter Across India

The Panchanama Boys along with Rishi Kapoor are here as “Jhootha Kahin Ka” releases today. …